दुनिया का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया
दुनिया का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया

दुनिया का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया : हम सभी लोग आज के इस सफर में चाहे कुछ हो या ना हो पर मोबाइल फोन का उपयोग तो अवश्य करते ही हैं। आज के समय में मोबाइल फोन हमारी सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता बनकर रह गया है। मोबाइल फोन के बिना आजकल हमारा कोई काम ही नहीं हो पाता है ऐसा लगता है जैसे सारी दुनिया ही रुक चुकी हो। आज के अपने इस पोस्ट में हम यह जानेंगे कि मोबाइल फोन का आविष्कार कब और किसने किया था? आज के समय में यह मोबाइल फोन जो सभी लोगों की जरूरत बन कर रह चुका है उसे किस व्यक्ति ने बनाया आज हम उनके बारे में कुछ जानकारी प्राप्त करेंगे।

मोबाइल फोन आज के समय में लोगों की सबसे महत्वपूर्ण जरूरत में से एक बन गया है। मोबाइल फोन वैज्ञानिकों द्वारा अविष्कार की गई सबसे उपयोगी चीजों में से एक है। इस मोबाइल फोन ने संचार के माध्यम से ना केवल एक दूसरे इंसानों को आपस में जोड़ा है बल्कि टेक्नोलॉजी की इस दुनिया में इंसानों के लिए और भी ऐसे कई रास्ते खोल दिए हैं जिसकी वजह से मनुष्य का जीवन और भी आसान हो गया है।

आजकल बाजारों में मोबाइल फोन एक स्मार्टफोन बन चुका है। अब तक यह 4G ही था परंतु कुछ समय पहले इस मोबाइल फोन में 5G फीचर्स भी निकल चुके हैं। परंतु क्या आपने कभी सोचा होगा की दुनिया का सबसे पहला फोन किस इंजीनियर ने बनाया होगा। दुनिया का पहले मोबाइल फोन को किस कंपनी ने लांच किया था इसकी कीमत कितनी होगी इसकी बैटरी बैकअप कितनी होती होगी भारत में मोबाइल फोन कब आया होगा या भारत में मोबाइल फोन लाने वाले पहले कारोबारी एवं कंपनी का नाम क्या है आज हम इन सभी चीजों के बारे में जानेंगे।

दुनिया का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया
दुनिया का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया

मोबाइल फोन का आविष्कार कब हुआ किसने किया, इंजीनियर और कंपनी का नाम

दुनिया के पहले मोबाइल फोन का आविष्कार एक अमेरिकन इंजीनियर मार्टिन कूपर ने 3 अप्रैल 1973 ईस्वी को सबसे पहले मोबाइल फोन का आविष्कार किया था। इसी तारीख को पहला मोबाइल फोन दुनिया में आया एवं उसका उपयोग करना शुरू किया गया।

दुनिया के पहले मोबाइल फोन को सबसे पहले मोटोरोला कंपनी ने लांच किया था। 1970 ईस्वी में पहली बार इंजीनियर मार्टिन कूपर ने एस मोटरोला कंपनी को ज्वाइन किया था। अपनी जोइनिंग के साथ ही मार्टिन कूपर ने पूरी लगन और मेहनत से काम किया एवं उन्होंने केवल 3 सालों में ही वह कर दिखाया जो किसी ने सोचा भी नहीं होगा। जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी उस मोबाइल फोन का आविष्कार 1973 में मार्टिन कूपर ने कर दिखाया।

दुनिया के पहले मोबाइल फोन का वजन, बैटरी बैकअप एवं कीमत कितनी थी?

अमेरिकन वैज्ञानिक मार्टिन कूपर द्वारा बनाया गया दुनिया का पहला मोबाइल फोन जिसका वजन लगभग 2 किलोग्राम था। इस मोबाइल फोन की एक बड़ी बैटरी होती थी जिसे कंधे पर लटका कर चलना पड़ता था। इस बैटरी को एक बार चार्ज करने के बाद लगभग उस मोबाइल फोन से 30 मिनट तक बातें हो सकती थी। परंतु चार्ज खत्म होने के बाद इसे दोबारा चार्ज करने में लगभग 10 घंटे का समय लगता था। उस समय इस मोबाइल फोन की कीमत लगभग ₹200000 यानी कि 2700 अमेरिकन डॉलर हुआ करती थी।

मोबाइल फोन की बाजार में बिक्री कब से शुरू हुई थी?

सन 1973 मैं लांच हुए इस पहले मोबाइल फोन को 0G ( जीरो जेनरेशन ) मोबाइल फोन के नाम से भी जाना जाता था। मोबाइल फोन के अविष्कार होने के लगभग 10 वर्षों के बाद मोटरोला कंपनी ने 1983 ईस्वी में आम लोगों के लिए पहली बार एक मोबाइल बाजार में लाया जिसका नाम मोटरोला डायना टीएसी 8000x था। यह फोन चार्ज होने के बाद लगभग 30 मिनट तक इसकी बैटरी चलती थी। इस मोबाइल फोन में 30 मोबाइल नंबर सेव किए जा सकते थे एवं उस वक्त में इस मोबाइल फोन की कीमत 295669 यानी कि 3995 अमेरिकी डॉलर थी।

भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया था?

भारत में सबसे पहले मोबाइल फोन का आगमन 31 जुलाई 1995 ईस्वी में दुनिया का पहला मोबाइल डायना टीएससी 8000x को लाया गया। उसके बाद सन 20 फरवरी 1997 ईस्वी में दूरसंचार सेवाओं के विस्तार के लिए भारत में TRAI ( टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया) की स्थापना की गई थी।

भारत में पहली मोबाइल सेवा किसने शुरू की थी

उसके बाद सन 1994 ईस्वी के मध्य से भारत में पहली बार मोबाइल सेवा प्रारंभ करने का प्रयास किया गया। भारत में यह प्रयास उद्यमी भूपेंद्र कुमार मोदी द्वारा पहली बार किया गया था। भूपेंद्र कुमार मोदी की कंपनी modi telstra ने देश में पहली बार मोबाइल फोन सेवा की शुरुआत की थी एवं इसी कंपनी के नेटवर्क से जिसे हम मोबाइल नेट कहते हैं उसके द्वारा पहला मोबाइल कॉल कोलकाता से दिल्ली किया गया था। इसी कंपनी को हम spice mobiles के नाम से भी जानते हैं।

Conclusion

अब तो आपको इस बात का पता चल ही गया होगा कि दुनिया में बनने वाली पहली मोबाइल फोन का आविष्कार कब और किसने किया एवं इसकी बैटरी बैकअप कितनी है भारत में या मोबाइल कब आया भारत में सबसे पहले मोबाइल लाने वाली कंपनी का नाम क्या है एवं किस कंपनी ने इस सेवा को और अधिक विकसित किया। इन सभी चीजों के बारे में अब आपको पूरी जानकारी मिल ही चुकी है।

आज के समय में यह मोबाइल फोन काफी अधिक बाजारों में फैल चुका है। आज प्रत्येक व्यक्ति के हाथ में एक मोबाइल फोन अवश्य होता है। हम मोबाइल फोन के बिना किसी भी तरह का काम पूरा नहीं कर सकते हैं। आज कई सारे बच्चे इसी मोबाइल के जरिए अपनी पढ़ाई करते हैं ऑफिस आदि सभी जगहों पर इस मोबाइल फोन एवं नेटवर्क का कार्य होता है। आजकल यह इतना अधिक विकसित हो गया है कि हम घर बैठे ही वीडियो कॉल पर दूर देश में बैठे अपने रिश्तेदारों को आसानी से देख भी सकते हैं।

मैं आशा करत हूं आज का हमारा यह पोस्ट आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो। यदि हमारा यह पोस्ट आपको पसंद आया हो तो इसे लाइक एवं शेयर करें ताकि और भी लोगों तक यह जानकारी पहुंच सके की दुनिया में बनने वाला पहला मोबाइल कौन सा है एवं इसका आविष्कार कब और किसने किया था।

यदि मोबाइल फोन से संबंधित किसी भी तरह का सवाल आपके मन में चल रहा हो तो आप उन सवालों को नीचे हमारे कमेंट बॉक्स पर लिख सकते हैं हम आपके सवालों का जवाब देने का प्रयास करेंगे। धन्यवाद…..

यह भी पढ़े – 

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here