महाशय धर्मपाल जी किंग ऑफ़ स्पाइस

आज हम आप को महाशय धर्मपाल जी जिनको लोग कई नामो से बुलाते है किंग ऑफ़ स्पाइस हम सब MDH वाले अंकल के नाम से बी जानते है उनके बारे में बताएंगे. कैसे उन्होंने एक इतनी बड़ी मसाला कंपनी बनाई. शायद ही कोई ऐसा होगा जो महाशय धर्मपाल जी को नहीं जनता होगा. वैसे तोह यह किसी परिचय के मोहताज़ नहीं है. हम आप को उनके  जीवन की अनोखी बाते बताएंगे जो आप नहीं जानते होंगे आप पोस्ट को पूरा पढ़े.

महाशय धर्मपाल जी का जन्म 27  मार्च 1923 सियालकोट पाकिस्तान में हुआ था. इनके पिता का नाम महाशय चुन्नी लाल गुलाटी माता का नाम चनन देवी पत्नी का नाम लीलावती. और इनके दो भाई सतपाल गुलाटी धर्मवीर गुलाटी. इसके अलावा इनकी 5 बहने भी है.  इन्होने अपनी शिक्षा सियालकोट में ही ली, सिर्फ चौथी कक्षा में ही इन्हे पढ़ाई बंद कर दी. इनका मन शुरू से ही पढ़ाई में नहीं लगता था, इनके पिता ने इनको बहुत सी जगह काम सिखने भेजा पर यह ज़्यदा दिन तक कही भी काम नहीं कर पाते थे अंत में इनके पिता ने अपने पुस्तैनी बिज़नेस में इनको अपने साथ लगा लिया. इनके पिता की मसालों की दुकान थी, जिसका नाम MDH (Mahashian Di Hatti) था. 7 सितम्बर 1947 में पूरा परिवार भारत में आ गए. कुछ दिन अमृतसर के रिफ्यूज कैंप में भी रहे.

 

अपने परिवार की आर्थिक स्थति ठीक करने के  लिए वो काम के सिलसिले में  दिल्ली आ गए. पर दिल्ली में भी उनको काम नहीं मिल रहा था, फिर जब इनको कोई काम नहीं मिला तो  इन्होने कुछ रुपए उधर ले  कर एक टांगा बग्गी खरीदी और उसको दिल्ली में चलाने लगे. पर इस काम से वह इतने  रुपया नहीं कमा पा रहे थे जिससे अपने परिवार का खर्चा अच्छे से चला सके. फिर वो वापिस अपने पुराने बिज़नेस में आ गए. 1948  में उन्होंने दिल्ली के करोल भाग में एक दुकान ली. और मसाले का बिज़नेस करने लगे. कुछ ही समय में उनका बिज़नेस अच्छा चलने लगा और अच्छा मुनाफा होने लगा. कुछ वक़्त बाद उन्होंने अपनी एक और दुकान 1953 में चांदनी चौक में खोल ली. और 1954 में एक रूपक नाम से स्टोर खोला जो की उन्होंने अपने भाई को दे दिया. 1959 में उन्होंने अपनी MDH (Mahashian Di Hatti) नाम से  मसाला फैक्ट्री की सुरुवात की. जो जल्द ही पुरे भारत के साथ साथ विदेशो में भी नाम कमाने लगी.  MDH सुरुवात से ही top पे रहा. महाशय धर्मपाल जी ने बहुत से चैरिटी स्कूल कॉलेज हॉस्पिटल बनवाए.

अब बात करते है महाशय धर्मपाल जी के अवार्ड्स के बारे में उनको 2016 में INDIAN OF THE YEAR अवार्ड से नवाज़ा गया. 2017 में LIFE TIME अवार्ड मिला. 2019 में PADMA BHUSHAN से सम्मानित किया गया.

 

 

महाशय धर्मपाल जी ने अपनी शुरुआत सिर्फ 1500 रुपया से की, और आज उनकी कंपनी की कीमत 10 ,000  करोड़ से ऊपर है.

अगर बात हर महीने की इनकम की बात करे तो  महाशय धर्मपाल जी 120 करोड़ से 180 करोड़ तक कमा लेते हे.  २०२० में

इनकी net  worth २५००० करोड़ हो गई है. इनका घर दिल्ली में है इनके घर की कीमत २५०० करोड़ है.

 

महाशय धर्मपाल जी को cars का बहुत शौक था उनके cars collections :-

Cars Collections Rolls-Royce Ghost 6 Crore, Mercedes-Benz M-Class ML 500 70 Lacs Chrysler 300C Limousine

Leave a Comment