SSC Full Form।
SSC Full Form।

SSC Full Form। SSC क्या है : जब भी सरकारी नौकरी का जिक्र किया जाता है तो उस समय प्रतियोगी छात्रों के दिमाग में SSC के बारे में सबसे पहले ख्याल आता है।

अब आपके जेहन में यह प्रश्न उठ रहा होगा कि SSC क्या कोई प्रतियोगी परीक्षा है ? SSC Full Form क्या होगा ? इसकी तैयारी करने की क्या योजना है ?

तो दोस्तों यदि आप भी इसके बारे में पूरी जानकारी लेना चाहते हैं और इस प्रतियोगिता परीक्षा को पास कर सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं तो अब इसकी पूरी जानकारी पाना बेहद आसान है क्योंकि इस लेख के माध्यम से हम आपको इन सभी की जानकारी प्रदान करने वाले हैं।

सरकारी नौकरी पाने की चाह हर किसी को होती है लेकिन सरकारी नौकरी में नियुक्त हो पाना बहुत आसान नहीं होता। इसके लिए लंबे समय तक के लिए परिश्रम करना पड़ता है।

ज्यादातर प्रतियोगी परीक्षा में सफल इसलिए भी नहीं हो पाते क्योंकि उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में ठीक ढंग से जानकारी नहीं होती है।

जैसे कि प्रतियोगी परीक्षाओं में एक प्रतियोगी परीक्षा का नाम SSC है, इस परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार की क्या योग्यता मापदंड निर्धारित किए गए हैं ? इन सब से जुड़ी जानकारी आपको यहां प्रदान की जाएगी।

सरकारी नौकरी ना मिलने के कारण आज के अधिकांश युवा बेरोजगार हैं। नौकरी पाने की होड़ में प्रतियोगी छात्र दिन रात पढ़ाई करते हैं, तब कहीं जाकर उन्हें कुछ बड़ी सफलता हासिल होती है।

यदि आप की भी रूचि किसी प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होने के लिए है तो आपको एक बार एसएससी की प्रतियोगी परीक्षा में निश्चित रूप से तैयारी करनी चाहिए।

SSC क्या है। ( What Is SSC ? )

SSC की स्थापना 4 नवंबर 1975 को की गई थी। यह केंद्र सरकार के अधीन होकर कार्य करती है। यह भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और विभागों में विभिन्न पदों के हेतु Group B और C के कर्मचारियों की भर्ती कराने में मूल भूमिका इसी की होती है ।आपको जानकारी के लिए बता दें कि इसका हेड क्वार्टर नई दिल्ली में है।

SSC full form kya hai ?

सबसे पहले आपको SSC फुल फॉर्म के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि इस बारे में हमारे आसपास के लोग हमसे यानी कि उम्मीदवार से पूछा जा चुका है कि SSC का फुल फॉर्म क्या है ? तो हम आपको बता दें SSC का
फुल फॉर्म ‘Staff Selection Commission ‘ है

"<yoastmark

SSC full form In Hindi

हिंदी में SSC Full Form  कर्मचारी चयन आयोग‘ है।

SSC की परीक्षा उम्मीदवार के लिए कितना महत्व रखता है ?

प्रतियोगी परीक्षा में एसएससी बहुत पॉपुलर एग्जाम है क्योंकि इसमें सभी तरह के योग्यता के लिए एग्जाम लिए जाते हैं। SSC प्रतियोगी परीक्षा प्रतियोगी छात्रों के लिए कितनी महत्वपूर्ण होती है, उसका अंदाजा आप ऐसे लगा सकते हैं कि इस प्रतियोगी परीक्षा के लिए लगभग हर वर्ष लाखों आवेदन किए जाते हैं ।

SSC के अंतर्गत होने वाले एग्जाम को देखें तो इसके अंतर्गत निम्नलिखित एग्जाम होते हैं-

एसएससी कंबिनेड ग्रैजुएट लेवल एग्जाम(CGL)
एसएससी कंबिनेड हाइयर सेकंडरी लेवल(CHSL)

-जूनियर इंजीनियर
-जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर
-एसएससी मल्टीटास्किंग
– पुलिस ऑर्गेनाइजेशन
-स्टेनोग्राफर

"<yoastmark

SSC Exams के अतिरिक्त SSC Post Name की संक्षिप्त में जानकारी:

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया SSC कई तरह के एग्जाम कंडक्ट कराती है। एग्जाम पास कर लेने के बाद उम्मीदवार को पद पर नियुक्त किया जाता है तो चलिए अब हम जानते संक्षिप्त एग्जाम और पोस्ट के बारे में।

एसएससी कंबिंड ग्रेजुएट लेवल एग्जाम(SSC CGL)

प्रतियोगी छात्र को नाम से अंदाजा लग गया होगा कि यह एक प्रकार की प्रतियोगी परीक्षा है। इसमें सभी प्रतियोगी छात्र हिस्सा ले सकते हैं, जिन्होंने स्नातक पूर्ण कर लिया हो। इस एग्जाम को चार स्टेज में रखा गया है, जिसे प्रति सफल उम्मीदवार को पास करना होता है।

Tier-1- कंप्यूटर बेस्ड एग्जामिनेशन
Tier-2- कंप्यूटर बेस्ड एग्जामिनेशन
Tier-3- पेन और पेपर मोड
Tier-4- कंप्यूटर प्रोफिशिएंसी टेस्ट / कुशलता टेस्ट

एसएससी एग्जाम के अंतर्गत Tier-1,Tier-2, Tier-3 में डिवाइड किया गया है। वहीं टियर 4 के लिए उम्मीदवार का कंप्यूटर टाइपिंग टेस्ट किया जाता है।

एसएससी कंबिंड हाइयर सेकंडरी लेवल एग्जाम(SSC CHSL)

जो उम्मीदवार 12वीं की परीक्षा पास कर चुके हैं उनके लिए SSC CHSLकी परीक्षा आयोजित की जाती है यानी कि इस प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित होने वाले छात्रों का 12 वीं पास होना जरूरी होता है। इस एग्जाम की परीक्षा भी तीन स्टेज में ली जाती है।

जूनियर इंजीनियर(JE)

इस एग्जाम में वही प्रतियोगी छात्र हिस्सा ले सकते हैं जिनके पास इंजीनियरिंग में डिप्लोमा और बीटेक किया होता है । इस प्रतियोगी परीक्षा को पास करके उम्मीदवार जूनियर इंजीनियर के पद पर नियुक्त किए जाते हैं। इसके लिए उम्मीदवार को दो पेपर से गुजर ना होता है।

जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर (JHT)

इस प्रवेश परीक्षा को पास करने के लिए उम्मीदवार को हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं की अच्छी जानकारी होनी चाहिए। इस परीक्षा में सफल उम्मीदवार को हिंदी अनुवादक के पद पर नियुक्त किया जाता है। वही उम्मीदवार को दो परीक्षा में सफलता हासिल करनी होती है।

एसएससी मल्टीटास्किंग (SSC multitasking)

दसवीं पास करने वाले उम्मीदवार को भी SSC की परीक्षा में सम्मिलित होने का अवसर प्रदान किया जाता है। दसवीं पास प्रतियोगी छात्र SSC के मल्टीटास्किंग के एग्जाम में बैठ सकते हैं। इस परीक्षा के लिए उम्मीदवार को दो पेपर में सफलता हासिल करनी होती है । उम्मीदवार के सफल हो जाने के बाद उसे multi tasking staff के लिए सिलेक्ट किया जाता है।

सेंट्रल पुलिस आर्गनाइजेशन(CPO)

CPO के बारे में अधिकांश लोगों को शायद पता नहीं होगा। CPO का फुल फॉर्म Central Police Organization हैं। शायद अब तक आप समझ ही गए होंगे कि यह भारतीय केंद्र सरकार के द्वारा पुलिस कर्मचारियों का सिलेक्शन करने की प्रक्रिया होती है। इस एग्जाम में सम्मिलित होने के लिए उम्मीदवार के पास ग्रेजुएशन की डिग्री निश्चित तौर पर होनी चाहिए। जिन उम्मीदवार को पुलिस के क्षेत्र में कार्य करने की इच्छा होती है वह इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं। इसके लिए उम्मीदवार को दो पेपर से गुजरना होगा, जो कि computer based होते है।

स्टेनोग्राफर (Stenographer)

जैसा कि ज्यादातर लोगों को पता होगा कि यह आशुलिपि के पद पर नियुक्त किए जाने की परीक्षा है। इस पद पर नियुक्त उम्मीदवार सामान्य लेखन की अपेक्षा अधिक तेजी से लिखने के लिए अश्रु लिपि के रूप में छोटे-छोटे प्रति को का उपयोग करता है। Stenographer की पोस्ट को C और D Grade की श्रेणी में रखा गया है। यह परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड होती है।

"<yoastmark

SSC की तैयारी कैसे करे।

दोस्तों यह एग्जाम इतना आसान नहीं होता है इसको क्लियर करने के आपको अच्छे से तैयारी करनी होगी क्योंकि इस एग्जाम में आज के समय में लाखों की संख्या में स्टूडेंट भाग लेते हैं।

जिससे इस एग्जाम को क्लियर कर पाना थोड़ा मुश्किल हो जाता है लेकिन दोस्तों यदि आप अच्छे से तैयारी करते हैं तो आप इसे क्लियर कर सकते हैं हम आपको कुछ ऐसे टिप्स देने वाले हैं जिसके माध्यम से आप आसानी के साथ एसएससी की तैयारी कर सकते हैं आप इन टिप्स को पढ़ें और फॉलो करें।

1. दोस्तों किसी भी एग्जाम को क्लियर करने का सबसे सटीक तरीका आपके पास अधिक से अधिक जानकारी हो इसके लिए आप स्टडी मैटेरियल्स जमा करें। जिससे आप अच्छे से नोट्स बनाकर रखें और उसका रिवीजन करते रहे।

2. सभी सब्जेक्ट को बराबर समय दें : दोस्तों सभी सब्जेक्ट को यदि आप बराबर समय देते हैं तो आप बड़े आसानी के साथ इस एग्जाम को क्लियर कर सकते हैं।

3. पिछली परीक्षाओं में होने वाली पेपर्स को जरूर देखें : दोस्तों यदि आप पिछले पेपर को देखते हैं और से हल करने की कोशिश करते हैं तो आपको एग्जाम से जुड़ी बहुत सारी जानकारियां मिलती हैं इसलिए आप पिछले परीक्षाओं के पेपर को जरूर हल करें यह आपको एग्जाम क्लियर करने में काफी मदद कर सकता है।

4. सिलेबस के अनुसार तैयारी करें : दोस्तो हर एग्जाम का अपना-अपना सिलेबस होता है, आप एसएससी की तैयारी कर रहे हैं, तो उसका भी सिलेबस है आप इस सिलेबस को इंटरनेट अथवा किसी माध्यम से डाउनलोड कर ले और उसे देखें और उसी के अनुसार ही पढ़ाई करें ऐसे करने से आपको सफलता मिलने के चांस बढ़ जाते हैं।

5. समय सारणी के अनुसार पढ़ाई करें : दोस्तों यदि आप एक समय सारणी के अनुसार पढ़ाई करते हैं तो आप बराबर सभी विषयों पर फोकस कर सकते हैं और अच्छे से पढ़ाई कर सकते हैं इसलिए आप एक समय सारणी अवश्य बनाएं और उसे फॉलो करें

6. रिवीजन करें : दोस्तों आप अपने सभी विषयों का रिवीजन बराबर करते रहे ऐसा करने से आपको पिछली चीजें याद रहती हैं और आप और बेहतर कर सकते हैं इसलिए दोस्तों आप रिवीजन अवश्य करें।

Read also : FIR Full Form। FIR क्या है।

Read Also : SSLC full form। SSLC क्या है। Full details

निष्कर्ष ( Conclusion )

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से आपने जाना कि SSC क्या है SSC Full Form क्या होता है SSC की तैयारी कैसे करें, SSC में किस तरह से एग्जाम होता है।

आशा करते हैं दोस्तों आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और SSC से जुड़ी जानकारी पसंद आई होगी ।यदि आपको यह जानकारी अच्छी पसंद आई हो तो आप इसे दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और यदि आपके मन में इस पोस्ट से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य हम आपके प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद..

 

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here