Train ka Avishkar kisne kiya।
Train ka Avishkar kisne kiya।

Train ka Avishkar kisne kiya : दुनिया में प्रतिदिन अरबों लोग ट्रेन के माध्यम से एक स्थान से दूसरे स्थान तक गमन करते हैं। आज के युग में ट्रेन को दुनिया के सबसे बड़े साधन के रूप में समझा जाता है।

दुनिया की 90 फीसदी की आबादी ट्रेन के माध्यम से ही एक स्थान से दूसरे स्थान पर गमन करती है। ट्रेन ने लोगों के जीवन में एक नई क्रांति लाने का कार्य किया है।

ट्रेन से केवल लोग ही नहीं बल्कि उनकी कई जरूरतमंद चीजें एवं और भी कई अन्य चीजों को बहुत ही आराम से एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाया जा सकता है। आपने भी कभी ना कभी ट्रेन का सफर अवश्य किया होगा तो आपको यह ज्ञात तो होगा ही ट्रेन एक आरामदायक साधन है जिससे हम बहुत ही आराम से कहीं भी जा सकते हैं।

आज यह तेज गति एवं लंबी और छोटी यात्रा में सस्ते भाड़े के कारण ट्रेन एक महत्वपूर्ण एवं काफी लाभकारी साधन बन चुका है। लेकिन किन लोगों ने मिलकर इस ट्रेन का आविष्कार किया चलिए आज हम इस बारे में जानते हैं?

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे कि Train ka Avishkar kisne kiya , ट्रेन से जुड़ी महत्वपूर्ण तथ्य क्या क्या है  साथ ही साथ ट्रेन के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल करेंगे इसीलिए आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ें जिससे आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिल सके।

ट्रेन का अविष्कार कब और किसने किया ? ( Train ka Avishkar kisne kiya )

27 September 1825 को विश्व की पहली ट्रेन चलाई गई थी जिसे जॉर्ज स्टीफेंसन द्वारा बनाया गया था। जॉर्ज स्टीफनसन ने इस ट्रेन का नाम लोकोमोशन रखा था।

वे एक ब्रिटिश इंजीनियर थे। George stephenson द्वारा बनाई गई लोकोमोशन ट्रेन 24 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलती थी। इस ट्रेन से कुल 450 लोगों ने पहली बार इंग्लैंड के डार्लिंगटन से स्टॉकटन के बीच सफर किया था।

अपने पहले ट्रेन की सफलता से प्रेरित होकर जॉर्ज स्टीफेन्सन ने एक 64 किलोमीटर लंबी रेल लाइन को मैनचेस्टर और लिवरपूल के बीच बनवाया था। यह रेलवे विश्व की पहली इंटरसिटी रेलवे थी जिसको 18 सितंबर 1830 को शुरू किया गया था।

जब लिवरपूल मैनचेस्टर लाइन का काम समाप्त होने वाला था तब 1829 को इंग्लैंड में एक लोकोमोटिव प्रतियोगिता आयोजित किया गया था जिसमें अपने दूसरे  रेल इंजन रॉकेट के साथ जॉर्ज स्टीफनसन ने भी इस प्रतियोगिता में भाग लिया था।

स्टीफेंसन ने यह रॉकेट अपने बेटे रोबोट के सहयोग से बनाया था। 58 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से स्टीफनसन ने अपने रॉकेट को दौड़ाकर इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हाशिल किया था।

Train ka Avishkar kisne kiya।
Train ka Avishkar kisne kiya।

ट्रेन से जुड़े 20 महत्वपूर्ण तथ्य

1. 1804 ईसवी में जॉर्ज स्टीफनसन से भी पहले इंग्लैंड के रिचर्ड ट्रेवीथिक ने एक स्ट्रीम रेल इंजन का आविष्कार किया था। रिचर्ड ट्रैवीथिक का मुख्य उद्देश्य यह था कि वे कोयले को खानों से निकालकर उससे लोहे की ढलाई करने वाले कारखाने तक आसानी से पहुंचा सके।

परंतु उनका यह रेल इंजन कई तरह के खामियों के कारण सफल नहीं हो सका। रिचर्ड ने पहली बार 21 फरवरी 1804 को अपने भाप इंजन से रेल को पहली बार खींचा था परंतु कुछ खामियों के कारण इनका आविष्कार सफल नहीं हो सका लेकिन इससे दूसरो में ट्रेन बनाने की प्रेरणा का आविष्कार हुआ था। इंग्लैंड को रेल इंजन का जन्मदाता कहा जाता है क्योंकि ट्रेन बनाने का सबसे पहले आइडिया इंग्लैंड में रहने वाले लोगों के द्वारा ही दिया गया था।

2. दुनिया का पहला रेल इंजन जो बिजली से चलता है स्कॉटलैंड के रसायन bcha के रॉबर्ट देवी दर्शन के द्वारा 1871 में तैयार किया गया था ।सन् 1832 ईस्वी में ट्रैक बदलने वाले रेलरोड स्विच का आविष्कार अंग्रेज सिविल इंजीनियर सर चार्ल्स फॉक्स के द्वारा की गई थी।

3. wolc electric Railway जो दुनिया का सबसे पुराना इलेक्ट्रिक रेलवे हैं वह इंग्लैंड के ब्राइटन शहर में स्थित है। इसकी शुरुआत 1883 में इंग्लैंड में की गई थी।

4. 1912 मैं स्विट्जरलैंड में दुनिया की पहली डीजल से चलने वाली ट्रेन की शुरुआत हुई थी। इस ट्रेन की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा थी।

Train ka Avishkar kisne kiya।
Train ka Avishkar kisne kiya।

5. 1964 मैं ओसाका शहर एवं जापान के टोक्यो के बीच विश्व में सबसे तेज रफ्तार वाली ट्रेन की शुरुआत की गई थी। यह ट्रेन 164 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलती थी।

6. इंग्लैंड के डार्लिंगटन शहर में स्थित ब्रिज दुनिया का पहला बनने वाला रेलवे ब्रिज है जिसका नाम स्केर्न ब्रिज रखा गया था।

7. दुनिया में बनने वाली पहली भूमिगत रेलवे लंदन अंडरग्राउंड है। इस रेलवे की शुरुआत 9 जनवरी 1863 ईस्वी को हुई थी जिसकी लंबाई 400 किलोमीटर तक है।

8. 1872 ईसवी में अमेरिकी इंजीनियर जॉर्ज वेस्टिंगहाउस ने ट्रेन में लगने वाले एयर ब्रेक सिस्टम का आविष्कार किया था। वर्तमान समय में सबसे तेज रफ्तार में चलने वाली ट्रेन शंघाई मैगलेव है जो 431 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलती है यह ट्रेन केवल चीन के शंघाई में चलती है।

9. दुनिया का सबसे लंबा रेल नेटवर्क की लंबाई 250000 किलोमीटर से भी ज्यादा है एवं यह संयुक्त राज्य अमेरिका में स्थित है। 80% रेल लाइनों का प्रयोग अमेरिका में सिर्फ माल ढुलाई के लिए ही किया जाता है।

10. आज से लगभग 166 वर्ष पहले भारत में पहली ट्रेन 16 अप्रैल 1853 को महाराष्ट्र के बोरीबंदर और थाने के बीच चलाई गई थी। इस train में 400 मेहमान यात्रियों के लिए जगह या सीट बनाई गई थी। इसमें 14 डिब्बे एवं तीन स्ट्रीम इंजन लगाए गए थे।

11. भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित गोरखपुर रेलवे प्लेटफार्म दुनिया का सबसे लंबा प्लेटफॉर्म है जिसकी लंबाई लगभग 4430 फिट है।

12. वंदे भारत एक्सप्रेस भारत में सबसे तेज चलने वाली ट्रेन है। इसकी सबसे अधिक रफ्तार 180 किलोमीटर प्रति घंटा होती है। भारत की दूसरी सबसे तेज चलने वाली ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस है जिसकी रफ्तार 160 किलोमीटर प्रति घंटा की होती है। यह ट्रेन दिल्ली एवं झांसी के मध्य चलती है।

13. दुनिया के सबसे लंबी रेलवे सुरंग गोथार्ड टनल है जो स्विजरलैंड में स्थित है। भारत की सबसे लंबी रेलवे सुरंग पीर पंजाल रेलवे टनल है जो जम्मू कश्मीर में स्थित है।

14. भारत में सबसे लंबी दूरी तय करने वाली ट्रेन विवेक एक्सप्रेस है जो तमिलनाडु के कन्याकुमारी और असम के डिब्रूगढ़ के बीच चलती है।

15. बेल्जियम और जर्मनी के बीच 1843 मैं दुनिया की पहली अंतरराष्ट्रीय रेल लाइन बनाई गई थी। यह रेल लाइन जर्मनी के कोलोन शहर को बेल्जियम के ब्रूसेल्स शहर से जोड़ती थी।

ब्रिटिश ने 16 अप्रैल 1853  को भारत में रेल की शुरुआत अपनी सुविधा के लिए की थी  परंतु  160 वर्षों के बाद दुनिया में भारतीय रेलवे का नेटवर्क अमेरिका चीन और रूस के नेटवर्क के बाद चौथा सबसे बड़ा रेलवे नेटवर्क है।

Read Also :  Call barring क्या है, इसे कैसे यूज़ करे। Full Details

Read Also : VRS Full Form। VRS क्या है। Full details

निष्कर्ष  ( Conclusion )

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से अपनी जाना की Train ka Avishkar kisne kiya , ट्रेन से जुड़े हुए महत्वपूर्ण तथ्य क्या-क्या है, और ट्रेन से जुड़ी हमने  हर एक जानकारी प्राप्त की ।

आशा करते दोस्तों आपको पसंद आई होगी और ट्रेन से जुड़ी हुई आपको हर जानकारी मिल गई होगी। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो उसे दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें जिससे अन्य लोग भी Train ka Avishkar kisne kiya के बारे में जानकारी प्राप्त कर हो सके ।

यदि आपको इस पोस्ट से संबंधित मन में कोई प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से जरुर पूछे हमआपके प्रश्नों के उत्तर अवश्य देंगे धन्यवाद ….

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here