VRS Full Form।
VRS Full Form।

VRS Full Form : हेलो दोस्तो आज के इस पोस्ट में हम VRS से जुड़ी जानकारी प्राप्त करेंगे। जो कि सभी सरकारी व गैर सरकारी संस्था में कार्य करने वाले कर्मचारियों पर लागू होता है। दोस्तों वीआरएस का नियम अक्सर बाजार में तब लागू किया जाता है जब बाजार में कंपटीशन व मंदी अधिक बढ़ गए हो ।

दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेंगे कि VRS Full Form क्या है, VRS क्या है, VRS नियम कब लागू होता है, VRS के अंतर्गत कौन-कौन से नियम आते हैं तथा VRS से जुड़े सभी  जानकारी हासिल करेंगे।

VRS  क्या है।

चाहे सरकारी हो या फिर गैर सरकारी या सभी तरह के संस्थाओं में लागू होता है। वीआरएस प्रमुख रूप से कर्मचारियों से संबंधित होता है। कंपनी आवश्यकता नुसार कर्मचारियों को वीआरएस के द्वारा रिटायर भी कर सकती है। इसे ही हम VRS कहते है।

इस नियम के तहत केवल पुराने कर्मचारियों को ही रिटायर किया जा सकता है, नये कर्मचारी इसके अंतर्गत नहीं आते हैं। इसी कारण सभी लोगों को वीआरएस के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए जिससे कि वे किसी भी तरह के गलत नियम का शिकार ना बने।

किसी भी कंपनी में कर्मचारियों की संख्या का निर्धारण प्रबंधक के आधार पर किया जाता है। कोई भी प्रबंधक अपनी कंपनी में नियोजित जनशक्ति की बढ़ती हुई प्रतिस्पर्धा एवं सही आकार का नियमित रूप से सामना करने के उद्देश्य से एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रबंध नीति का निर्माण प्रारंभ करता है।

कंपनी में किसी कंपनी में कर्मचारियों की अत्यधिक संख्या को कम करने के लिए ही स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति यानी VRS योजना को लाया गया है। यह योजना केवल सरकारी कंपनियों एवं सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों में ही लागू किया जाता है।

किसी भी कंपनी में कर्मचारियों की अतिरिक्त संख्या को कम करने के लिए VRS के इस नियम का प्रयोग किया जाता है। हाल के समय में ही व्यापार की दृष्टिकोण में मनुष्य के शक्ति का आधार बनने वाली प्रतियोगिता को पूरा करने के लिए एक संगठन में महत्वपूर्ण तरह की राजनीति का प्रबंध किया गया है।

VRS किसी भी कंपनी के कर्मचारियों की शक्ति को कम करने के लिए बहुत ही मजबूत तकनीक मानी जाती है। VRS अब एक सामान्य पद्धति बन गई है जिसके अतिरिक्त संगठन में सुधार और जनशक्ति को बांटने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

किसी भी कर्मचारी को उस कंपनी से जिस कंपनी में वह काम कर रहा है वहां से अपनी सुरक्षा से रिटायर होने के लिए इस नियम का प्रयोग किया जाता है। वीआरएस को गोल्डन हैंडसेट के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि वीआरएस किसी भी कंपनी में कर्मचारियों को उनकी क्षमता के आधार पर छांटने का एक बहुत ही अच्छा तरीका है।

VRS Full Form।
VRS Full Form।

VRS full form क्या है?

वीआरएस का पूरा नाम Voluntary Retirement Scheme है,  यह नियम भारत में अधिनियम 1947 के छटनी के अंतर्गत आने वाले औद्योगिक विवाद मैं कर्मचारियों  स्टाफ को कुछ काम करने के लिए एवं प्रतिष्ठान को बंद करने में नियोजको को प्रतिबंधित करने में उत्तरदाई होता है एवं इस प्रक्रिया के अंतर्गत कुछ नियम भी बनाए जा चुके हैं।

भारत सरकार एवं राज्य सरकार की सार्वजनिक क्षेत्र के दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड के तहत भारत सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना का संचालन किया है। इस योजना के तहत कोई भी कर्मचारी अपने रिटायरमेंट के दौरान अधिक से अधिक लाभ प्राप्त कर सकता है। भारत संचार निगम लिमिटेड के अंतर्गत बीआरसी योजना का कर्मचारियों के द्वारा 70000 से 80000 तक का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

VRS full form In Hindi

इसे हिंदी में “स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना”कहते हैं।

Read Also :  OPD Full Form। OPD क्या है। Full Details In Hindi

Read Also :  SSC Full Form। SSC क्या है। सम्पूर्ण जानकारी In Hindi

सरकारी नौकरी में भी VRS का क्या मतलब है?

राज्य सरकार एवं भारत सरकार द्वारा सरकारी नौकरी में काम कर रहे कर्मचारियों के लिए समय-समय पर कई योजनाओं को लागू किया जाता है।

सरकारी संगठनों के उद्देश्य को पूरा करने एवं सरकारी संगठन के कर्मचारियों की संख्या कम करने के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना को केंद्र सरकार या राज्य सरकार के द्वारा लाया गया है।

इसके अंतर्गत वह व्यक्ति जो अपनी 50 वर्ष की आयु पूरी कर चुके हो या उससे अधिक की आयु के कर्मचारी ही इस योजना के पात्र माने जाते हैं। बीआरसी योजना का फायदा केवल स्थाई एवं नियमित कर्मचारियों को ही दिया जा सकता है।

VRS कब लागू किया जाता है ?

VRS के अंतर्गत स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति योजना का विकल्प कुछ परिस्थितियों में चुना जा सकता है। जैसे कि-

1. जब कभी व्यापार में मंदी की स्थिति उत्पन्न हो जाए तब इस नियम को लागू किया जाता है।

2. जब व्यापार में कंपटीशन बहुत अधिक बढ़ जाता है तब उस स्थिति में व्यापार में सुधार करने के लिए इसका उपयोग होता है।

3. बीआरसी विदेशी सहयोगियों के साथ मिलकर काम करने के कारण भी इसका उपयोग किया जाता है।

4. किसी उत्पाद या प्रौद्योगिकी को इसके पुराने तरीके से चलाने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है।

VRS Full Form। and VRS Rule
VRS Full Form। and VRS Rule

VRS के नियम ( Rule of VRS )

वीआरएस के कई नियम होते हैं एवं इन्हीं नियमों के आधार पर वीआरएस यानी voluntary retirement scheme को लागू किया जाता है। वीआरएस के कई नियम है तो चलिए उस नियम को जानते हैं –

1. VRS केवल उसी व्यक्ति पर लागू होगा जो किसी सरकारी एवं गैर सरकारी संस्था से किसी भी रूप में जुड़ा हुआ हो।

2. वीआरएस नियम केवल उसी व्यक्ति पर लागू होगा जिसकी आयु 50 वर्ष से अधिक हो।

3. वह व्यक्ति जो कम से कम 20 साल तक किसी सरकारी या किसी कंपनी में अपनी सेवा दिया हो तभी वह वीआरएस नियम के अंतर्गत आएगा।

4. वीआरएस नियम किसी भी आकस्मिक कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा यह केवल स्थाई कर्मचारी अस्थाई कर्मचारी कार्यभारित कर्मचारी एवं बदली कर्मचारी पर ही लागू किया जाएगा।

5. वीआरएस के नियम के द्वारा रिक्त हो गए पद में कोई नई नियुक्ति नहीं होगी।

6. यदि कोई सरकारी कर्मचारी अपनी इच्छा से सेवानिवृत्ति होना चाहता है तो उसे अपने पद से हटने से 3 महीने पहले ही कंपनी में नोटिस दे देना होगा।

7. यदि किसी व्यक्ति को वीआरएस का लाभ प्राप्त करना है तो उसे पहले नियुक्ति प्राधिकारी को संतुष्ट करना होता है कि उसने क्वालीफाई सर्विस को पूरा किया है या नहीं।

8. वीआरएस प्राप्त करने के पश्चात कर्मचारियों को जो कंपनसेशन प्रदान किया जाता है व कर्मचारियों की सैलरी हेड की इनकम मानी जाती है। यह जो आए होती है वह profit lieu of salary के आधार पर ही टैक्सेबल होती है।

9. सेक्शन 10 के अनुसार Income Tax Act के अंतर्गत 1961 के वीआरएस में प्राप्त कंपनसेशन की अधिकतम 500000 तक की छूट दी जाती है।

Read Also :  FIR Full Form। FIR क्या है। सम्पूर्ण जानकारी In Hindi

Read Also : OPD Full Form। OPD क्या है। Full Details

निष्कर्ष  ( Conclusion )

इस पोस्ट के माध्यम से अपनी जाना की VRS Full Form क्या होता है, VRS क्या है, VRS के नियम क्या है, एवं VRS से जुड़ी हर एक प्रकार की जानकारी हासिल की।

आशा करता हूं दोस्तों आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और VRS से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियां मिल गई होंगी।

यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें तथा यदि आपके मन में इस पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न हो तो नीचे कमेंट के माध्यम से अवश्य पूछें हम आपके प्रश्नों के उत्तर जरूर देंगे धन्यवाद .

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here